Deevaron Se Par Aakash

-1%

Deevaron Se Par Aakash

Deevaron Se Par Aakash

200.00 199.00

In stock

200.00 199.00

Author: Kundanika Kapadia

Availability: 6 in stock

Pages: 276

Year: 2019

Binding: Paperback

ISBN: 9788172010300

Language: Hindi

Publisher: Sahitya Academy

Description

दीवारों से पार आकाश

दीवारों से पार आकाश साहित्य अकादेमी द्वारा 1985 में पुरस्कृत गुजराती उपन्यास सात पगलां आकाशमां का हिंदी अनुवाद है। यह एक ऐसी विरल कृति है, जिसे छह-छह पुरस्कार प्राप्त हुए, लेकिन इसकी सिद्धि इन पुरस्कारों में नहीं है। इसकी सफलता इस बात में है कि इसने गुजराती नारी समाज की चेतना को इस तरह झकझोर दिया कि यह पुस्तक सामाजिक क्रांति की अग्रदूत बन गई। गुजरात में शायद ही कोई ऐसा शिक्षित परिवार होगा, जहाँ यह पुस्तक पढ़ी नहीं गई हो। पुरुष प्रधान समाज में स्त्रियों पर सदियों से प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष अन्याय होते रहे हैं, उसके सैकड़ों रूप इस उपन्यास में उजागर हुए हैं। इसकी लोकप्रियता का कारण है कि इसमें हजारों स्त्रियों ने अपनी ही कथा, अपनी ही व्यथा का चित्रण पाया है और इसीलिए यह कहानी लेखिका की न रहकर पूरे नारी समाज की बन गई है। इस पुस्तक के हिंदी और मराठी अनुवाद को भी साहित्य अकादेमी का अनुवाद पुरस्कार प्राप्त हुआ।

Additional information

Authors

Binding

Paperback

ISBN

Language

Hindi

Pages

Publishing Year

2019

Pulisher

Reviews

There are no reviews yet.


Be the first to review “Deevaron Se Par Aakash”

You've just added this product to the cart:

error: Content is protected !!