Drashyantar : Natak, Kala, Cinema

-25%

Drashyantar : Natak, Kala, Cinema

Drashyantar : Natak, Kala, Cinema

375.00 280.00

In stock

375.00 280.00

Author: Jyotish Joshi

Availability: 5 in stock

Pages: 183

Year: 2017

Binding: Hardbound

ISBN: 9789387187108

Language: Hindi

Publisher: Nayeekitab Prakashan

Description

दृश्यान्तर : नाटक, कला और सिनेमा

‘दृश्यान्तर’ नाटक, कला और सिनेमा के ज्वलंत प्रश्नों, समस्याओं तथा विचारणीय मुद्दों पर बहस करती पुस्तक है। प्रसिद्ध आलोचक डॉ. ज्योतिष जोशी ने इस पुस्तक में जहाँ साहित्य से नाटक का सम्बन्ध, हिन्दी रंगमंच की समकालीन चुनौतियाँ, पणिक्कर का रंग वैशिष्ट्य जैसे आलेखों के माध्यम से हिन्दी रंगकर्म को समकालीन आवश्यकताओं के तहत देखने की चेष्टा की है, वहीं मनोहर सिंह और ब-व- कारंत जैसे मूर्धन्य रंगकर्मियों के अवदान के बहाने समकालीन रंगमंच के प्रश्नों पर विचार किया है। इसी तरह आलोचक ने दृश्यकला में सम्प्रेषण के संकटों को समझते हुए कला में बाजारवादी खतरों से सावधान किया है। आलोचक ने पर्याप्त बल देकर कहा है कि पारंपरिक कलाओं के संरक्षण और उनका आज की दृश्यकला में उपयोग किये बिना उसे जनधर्मी नहीं बनाया जा सकता।

Additional information

Authors

Binding

Hardbound

ISBN

Language

Hindi

Pages

Publishing Year

2017

Pulisher

Reviews

There are no reviews yet.


Be the first to review “Drashyantar : Natak, Kala, Cinema”

You've just added this product to the cart:

error: Content is protected !!