Main Ravindranath ki Patni

-25%

Main Ravindranath ki Patni

Main Ravindranath ki Patni

199.00 149.00

In stock

199.00 149.00

Author: Ranjan Bandyopadhyay

Availability: 5 in stock

Pages: 166

Year: 2022

Binding: Paperback

ISBN: 9789394902190

Language: Hindi

Publisher: Rajkamal Prakashan

Description

मैं रवीन्द्रनाथ की पत्नी

‘मैं रवीन्द्रनाथ की पत्नी’ एक ऐसी पुष्पलता की कहानी है जिसे एक विराटवृक्ष के साहचर्य में आने की कीमत अपने अस्तित्व को ओझल करके चुकानी पड़ी।

गुरुदेव रवीन्द्रनाथ ठाकुर की पत्नी थीं—मृणालिनी देवी। उनका सिर्फ एक ही परिचय था कि वे विश्वकवि की सहधर्मिणी हैं। उनका जीवन मात्र अट्ठाइस वर्षों का रहा, जिनमें से उन्नीस वर्ष उन्होंने रवीन्द्रनाथ की पत्नी के रूप में जिये। रवीन्द्रनाथ की विराट छाया में मृणालिनी का अन्तर्जगत हमेशा अँधेरे में रहने को ही अभिशप्त रहा। रवीन्द्रनाथ से इतर उनका अपना कोई अस्तित्व मानो रहा ही नहीं।

लेकिन क्या सचमुच ऐसा ही था? क्या अपने निजी जीवन में मृणालिनी ने दाम्पत्य का सहज सुख पाया और अपने जीवनसाथी की सच्ची सहधर्मिणी हो पाई थीं? क्या उन्हें रवीन्द्रनाथ की पत्नी के रूप में प्रेमपूर्ण जीवन जीने को मिला था? इन तमाम सवालों का जवाब है यह उपन्यास जिसमें एक स्त्री के सम्पूर्ण मन-प्राण की व्यथा इस तरह अभिव्यक्त हुई है जो इतिहास को नई रोशनी में देखने की माँग करती है।

एक अविस्मरणीय कृति !

Additional information

Binding

Paperback

ISBN

Language

Hindi

Pages

Publishing Year

2022

Pulisher

Authors

Reviews

There are no reviews yet.


Be the first to review “Main Ravindranath ki Patni”

You've just added this product to the cart:

error: Content is protected !!